यूनिट लिंक्ड प्रोडक्ट्स
आप यहाँ हैं

यूनिट लिंक्ड प्रोडक्ट्स

 

यूनिट लिंक्ड बीमा उत्पाद की प्रकृति जटिल होती है। पॉलिसीधारक से उचित व्यवहार सुनिश्चित करने के लिए आईआरडीए ने कई तरह की पहल की है।

  • बीमाकर्ताओं को चाहिए कि वह संभावित/पॉलिसीधारक को पॉलिसी के हर वर्ष में विभिन्न शुल्कों से संबंधित सभी प्रासंगिक जानकारी दे
  • बीमाकर्ताओं को ब्याज के दो परिदृश्य – 6%और 10%पर लाभ का ब्यौरा देना चाहिए
  • संभावित व्यक्ति के लिए प्रस्ताव पर हस्ताक्षर करते समय इस ब्यौरे पर भी हस्ताक्षर करना ज़रूरी है
  • पॉलिसी की दीर्घावधिक, सुरक्षा कार्यप्रणाली दर्शाने के लिए लॉक-इन पीरियड तीन वर्ष से बढ़ाकर पाँच वर्ष कर दी गई है
  • सभी नियमित प्रीमियम/सीमित प्रीमियम यूलिप में समान/स्तरीय भुगतान प्रीमियम होंगे
  • किसी भी अतिरिक्त भुगतान को यूलिप पर बीमा कवर शुल्कों के उद्देश्य से एकल प्रीमियम माना जाएगा,जिसे लॉक-इन पीरियड के दौरान बराबर विभाजित किया जाना चाहिए, ताकि आगे व्यय का भार अत्यधिक न हो।
  • एक प्रीमियम प्रोडक्ट को छोड़कर, सभी सीमित प्रीमियम भुगतान अवधि वाले यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्रोडक्ट की प्रीमियम भुगतान अवधि कम से कम पाँच वर्ष होनी चाहिए
  • पेंशन और वार्षिक वृत्ति उत्पादों को छोड़कर सभी यूनिट लिंक्ड प्रोडक्ट में मृत्यु या स्वास्थ्य कवर होना चाहिए
  • इन अनुभागों के लिए प्रस्तावित किए जाने वाले न्यूनतम कवर का निर्धारण किया गया है
  • पॉलिसीधारक के लिए शुल्क संरचना को आसान बनाने के उद्देश्य से पाँचवे वर्ष से शुल्कों पर एक उच्चतम सीमा तय की गई है

 

समापन/समर्पण शुल्क

यह सुनिश्चित करने के लिए एक नए विनियम के विषय में सूचित किया गया कि जब पॉलिसीधारक अपनी पॉलिसी का समापन करते हैं तो उनसे अधिक शुल्क नहीं लिया जाए। इसमें शामिल है:

  • बीमाकर्ता केवल व्यय हुए अधिग्रहण लागतों की पुनः प्राप्ति कर पाएगा और ये शुल्क अत्यधिक नहीं होने चाहिए
  • अगर पूछताछ में समापन शुल्क अत्यधिक पाया गया तो आईआरडीए इसको वापस करने का आदेश दे सकता है
  • समापन शुल्क पर फंड वैल्यू और प्रीमियम के प्रतिशत और एक निरपेक्ष मान के रूप में उच्चतम सीमा लगाया जाता है
  • पॉलिसी का समापन करते समय, पॉलिसीधारक को पॉलिसी पुनर्जीवित करने या बिना किसी जोखिम कवर के बंद करने का अधिकार होगा
  • प्रीमियम के भुगतान के विभिन्न मोड के लिए रियायती अवधि स्पष्ट रूप से परिभाषित की गई है
वैधानिक विवेचन के लिए अंग्रेजी पाठ ही मान्य होगा संचालन : रेवालसिस
Close